Categories
Fitness

तलाश

मन के बियावान में, उन वीथियों के सुनसान में, तुम्हे ढूंढता हूँ कहीं … पत्तों की सरसराहट के बीच, मन की अकुलाहट के बीच लगता है तुम मिलोगी वहीं.. आसमान के उमड़ते-घुमड़ते बादलों में, असंख्य लोगों की भीड़ में तुम्हे ढूंढता हूँ कहीं … वो दूर बजते सितार में, मंदिरों के घंटियों की आवाज में […]

Categories
Fitness

बस इतनी सी चाह है

बस इतनी सी चाह है – एक सुबह तुम्हारे साथ फ्रेश्ली ब्रयूड कॉफ़ी की अरोमा के साथ   दोपहर – आम्र वन की वीथियों में, अलसाती, मदमाती तुम्हारी घनेरी जुल्फों की छावं में आम्र मंजरियों की मदमाती खुशबू के साथ तुम्हारी और कोकिला की आवाज के साथ   सुरमई शाम – उस दूर पर्वत के […]